मजदूरों की बस्ती हैं,पास में मंदिर, छोटे बच्चों के स्कूल,लड़कियां और महिलाएं छतों पर खड़ी होती हैं तो शराब पिए हुए लोग उनके तरफ मुंह करके लघुशंका करने के लिए खड़े होते,मजदूरों की पूरी कमाई शराब की दुकानों में फूंकने से नाराज़ पूर्व सीएम उमा भारती का जबरदस्त तारीफ पसंद कारनामा,शराब की दुकान पर चला दिया पत्थर, सीएम शिवराज असहज

0

तहलका टुडे टीम

भोपाल : एमपी की पूर्व सीएम उमा भारती लगातार शराबबंदी की मांग कर रही है। कई बार प्रदेश की सरकार को वह सड़क पर उतरने की चेतावनी भी दे चुकी हैं। दो दिन पहले सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल स्थित आवास पर जाकर उमा भारती (Uma Bharti pelting stones) से मुलाकात भी की थी। इस दौरान शराबबंदी पर चर्चा की थी। सीएम ने उन्हें आश्वासन दिया था कि शराबंदी को लेकर सामाजिक अभियान चलाएंगे। इसके बावजूद उमा भारती ने कहा है कि हम शराबबंदी को लेकर आंदोलन करेंगे। अब वह शराब दुकान में पत्थर मार (Uma Bharti pelting stones in liquor shop) रही हैं।

उमा भारती इसे लेकर राजधानी भोपाल में सड़क पर उतर गई हैं। उन्होंने भोपाल स्थित बरखेड़ पठानी, आजाद नगर और बीएचईएल इलाके में जाकर हंगामा किया है। यहां मजदूरों की बड़ी बस्ती है। लाइन से शराब की दुकानें भी हैं। उमा भारती के साथ वहां लोगों की भीड़ भी चल रही थी। इस दौरान उमा भारती शराब दुकान के अंदर घुस गईं। हाथ में वह बड़ा पत्थर लेकर गई थीं। उमा भारती ने पत्थर से शराब की रखी बोतलों पर मार दिया। इसका वीडियो उन्होंने खुद भी ट्वीट किया है।

उमा भारती ने आगे लिखा है कि मजदूरों की बस्ती हैं, पास में मंदिर हैं, छोटे बच्चों के स्कूल हैं। वहीं, जब लड़कियां और महिलाएं छतों पर खड़ी होती हैं तो शराब पिए हुए लोग उनके तरफ मुंह करके लघुशंका करने के लिए खड़े होकर उनको लज्जित करते हैं। उमा भारती ने यह भी कहा कि मजदूरों की पूरी कमाई इन दुकानों में फूंक दी जाती है। यहां के निवासियों और महिलाओं ने आपत्तियां की, विरोध में धरने दिए क्योंकि यह दुकान सरकारी निति के खिलाफ हैं।

एक सप्ताह की चेतावनी
पूर्व सीएम उमा भारती ने कहा है कि मैंने प्रशासन को पहले कई बार कहा कि इन दुकानों को बंद कर दीजिए। मगर हर बार हमें सिर्फ आश्वासन मिला है। मैंने प्रशासन को एक हफ्ते के अंदर दुकान और अहाता बंद करने की चेतावनी दी हैं।

वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने शिवराज सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि एमपी में शराबबंदी अभियान शुरू करने की तीन-तीन बार तारीख देकर गायब रहीं प्रदेश की पूर्व सीएम उमा भारती अब शराब की दुकान में खुद पत्थर बरसा रही हैं….? अब क्या उमा भारती पत्थर उठाकर शराबबंदी करवाएगी…? एक पूर्व सीएम को अपनी सरकार में यह सब करना पड़े तो समझा जा सकता है..? वो कितनी असहाय हो चुकी हैं। वहीं, एक तरफ शिवराज प्रदेश में शराब को सस्ती और शराब की दुकानों को डबल कर रहे हैं और दूसरी तरफ उन्हीं की पार्टी की नेता मैदान में हाथों में पत्थर लेकर…? वैसे उन्हें कानून हाथ में नहीं लेना चाहिए , यह अपराध है… विरोध के कई अन्य लोकतांत्रिक तरीके भी हैं।

वहीं, उमा भारती के तेवर की वजह सीएम शिवराज सिंह चौहान असहज हो सकते हैं। उनके सामने यह सवाल रहेगा कि आखिर अब वह क्या करेंगे। उमा पहले ही चुनाव लड़ने की घोषणा कर चुकी हैं। सियासी जानकार मानते हैं कि उमा भारती शराब के बहाने कुछ और साधने की कोशिश कर रही हैं। इसे लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here