प्रधानमंत्री,मुख्यमंत्री जी,बाराबंकी से सऊदी अरब गया था कमाने गुफरान,मिला धोखा,पैसा मांगने पर रेगिस्तान में बने मजरे में छोड़ा अकेले,एजेंट और कफील ने मारा पीटा और जलाकर दिया मार, 2साल की ब्याही पत्नी 8 महीने की बच्ची, मां बाप का तड़प तड़प कर रोते हो रहा है बुरा हाल,नही आई अभी तक लाश,भारत सरकार से गुहार,सऊदी में सुपुर्दे खाक करने के लिए एजेंट का परिजनों पर दबाव, एफआईआर की मांग

Latest Article गोरखपुर बाराबंकी

तहलका टुडे टीम

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी से नौकरी के लिए सऊदी अरब गए युवक को वहां संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। संदिग्ध मौत पर परिजनों ने सऊदी भेजने वाले एजेंट पर पूरे पैसे न मिलने पर हत्या करने का आरोप लगाया है। परिजनों ने विदेश मंत्रालय से संपर्क कर मामले में कार्यवाही और शव भारत लाए जाने की गुहार लगाई है। जानकारी के अनुसार टिकैत नगर कोतवाली क्षेत्र के फत्तापुर कला गांव के निवासी गुफरान नौकरी की तलाश में एजेंट के माध्यम से सऊदी अरब गया था। लेकिन 6 महीने बीतने के बाद फोन पर गुफरान की जल कर मौत की सूचना मिली, जिससे परिवार में मातम का माहौल है। परिजन सऊदी भेजने वाले एजेंट के खिलाफ कार्यवाही और गुफरान का शव भारत लाने की मांग कर रहे हैं।

पिता का आरोप है कि सऊदी अरब गुफरान कमाने गया था, वहां उसके साथ धोखा हुआ है। पिटाई का विरोध करने पर उसे जलाकर मार डाला गया। पिता ने बताया की बेटे गुफरान के शव को भारत लाने और मामले में जांच कर कार्यवाही की जाए, जिसके लिए पुलिस अधीक्षक मांग है।

पुलिस कप्तान,और प्रभारी निरीक्षक थाना टिकैत नगर बाराबंकी में जाकिर पुत्र हजरत निवासी ग्राम मौजा फत्तापुर कला थाना टिकैत नगर जनपद बाराबंकी ने प्राथना पत्र देकर सूचना रिपोर्ट व किये जाने उचित कानूनी कार्यवाही की गुहार लगाते हुए कहा
जान मोहम्मद पुत्र मो इस्लाम निवासी ग्राम कुशफर थाना दरियाबाद जनपद बाराबंकी जो सऊदी अरब में काम करता है,बताया की सऊदी मे एक कफील है जो अपने लड़के गुफरान को सऊदी अरब में चाय कहवा बनाने के काम में मेरी जिम्मेदारी पर भेज दो एक लाख छप्पन हजार रू पड़ेंगे, प्राथी के पास एक लाख बीस हजार रू थे विपक्षी को पेश कर दिया था बाकी के छत्तीस हजार लड़के गुफरान का काम लग जाने पर तनख्वाह मिलने पर मिल जायेगा, जिसके बाद लड़के गुफरान को सऊदी अरब जाने की प्रक्रिया को पूरी करवाकर 19 मार्च 22 को भेज दिया था ।
लेकिन गुफरान को जान मोहम्मद द्वारा बताये गए चाय कहवा बनाने के काम के बजाय एक सूनसान क्षेत्र में बकरी चराने का काम मिला तो गुफरान द्वारा फोन पर यहां मिली अजियात से इण्डिया बुला लेने को कहा कि हम फंस गए है । उधर दूसरी तरफ एजेंट जान मोहम्मद छत्तीस हजार रूपये मांग रहा था ।

इस सिलसिले में एक शिकायती प्रार्थना पत्र प्रभारी निरीक्षक दरियाबाद कोतवाली को दिया गया था जिसके बाद एक आपसी समझौता हुआ था कि प्रार्थी के लड़के को 2 माह के अंदर बुला देने की बात का एक कागज पर दोनो पक्षों के हस्ताक्षर/निसानी अंगूठा कराए गए थे किन्तु प्रार्थी को कोई कागज नहीं दिया गया था उसके कुछ दिन बाद 29अप्रैल .2022 को एजेंट जान मोहम्मद ने घर जाकर तमाम बदसलूकी करते हुए बाकी के 36,000 रू माग रहा था,जिसमे गांव के निवासी सियाराम पुत्र रामराज व मोहम्मद सब्बीर पुत्र गुलाम हजरत व संतोष कुमार पुत्र सालिक राम व गांव के अन्य लोगों के सामने विपक्षी ने कहा था कि अगर बाकी पैसे मुझे नहीं मिले तो सऊदी अरब में गुफरान को भुगतना पड़गा,मैं और मेरा कफील दाना गुफरान को वापस नही आने देगें उक्त विपक्षी सऊदी अरब जाकर आज के लगभग 20 दिन पहले प्रार्थी के लड़के गुफरान को जान से मारने की धमकी दिया था।

जिसे गुफरान ने फोन पर बताया था।
13 सितंबर को शाम 4 बजे उक्त गुफरान के कफील के ड्राईवर सादिक अली ने शहिद के मोबाइल नम्बर 7355672254 पर सूचना दी थी कि उक्त गुफरान आग लगने की घटना का शिकार होकर दो दिन
पहले मर चुका है जिसकी सूचना कफील ने भी नहीं दी और ये दोनो मुंह चुराते रहे।
इन दोनो द्वारा मेरे बेटे गुफरान को मार डाला,
इसलिए मुकदमा दर्ज कर कड़ी कार्यवाही की जाय और मेरे पुत्र की लाश सऊदी अरब से भारत मंगवाई जाय जिससे हम उसको अपनी मातृ भूमि में सुपुर्दे खाक कर सके।

पिता जाकिर ने बताया कि तमाम प्रयासों के बाद भारतीय एंबेसी से मिली फोटो और जानकारी में सऊदी अरब के दसमा रोड़, अल–दावादमी में खेत के अंदर बने एक कमरे में गुफरान की लाश जली हुई अवस्था में पाई गई उसकी फोटो मिली है,

टिकैतनगरं कोतवाली इंस्पेक्टर संतोष सिंह ने बताया कि मामला अंतरराष्ट्रीय होने के कारण कार्यवाही यहां से नही हो सकती,

इसलिए पीड़ित ने एंबेसी से संपर्क भी किया है।

जाकिर की बताई दास्तान में बेटे की लाश पाने की तड़प ,मां की सिसकियां,पत्नी के बिलबिलाने से चीख मारकर रोती 8माह की बिटिया,गांव वालो का अफसोस जता रहा चेहरों को सिर्फ भारत सरकार से इंसाफ और लाश की दरकार है,उन्हें उम्मीद है कि वो भी मिलेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *