सत्ता के दुरुपयोग की पराकाष्ठा है वामपंथी चिंतकों की गिरफ्तारी

विदेश

लखनऊ । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश मामले में पांच वामपंथी विचारकों को गिरफ्तारी किए जाने की बसपा अध्यक्ष मायावती ने आलोचना की है। उन्होंने मोदी सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि दलितों, आदिवासियों, पिछड़ों के प्रति शोषण और अत्याचार के खिलाफ लड़ने वाले बुद्धिजीवियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं के खिलाफ सरकार दमनचक्र चला रही है।

मायवती ने कहा देश में जिस तरह से गिरफ्तारियां की गई हैं वह सत्ता के दुरुपयोग और निरंकुशता की पराकाष्ठा है। इस घटना की जितनी निंदा की जाए, वह कम है। मायावती ने कहा कि भाजपा सरकार ने अपनी विफलताओं से ध्यान हटाने के लिए ऐसी कार्रवाई की है। सरकार के इस रवैये से लोगों में आक्रोश है,

जिसे स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है। बसपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा सरकारों को अपनी जनविरोधी नीतियों के साथ-साथ लोकतंत्र विरोधी नीतियों और कार्यप्रणाली से बचना चाहिए। मायावती ने कहा कि नक्सल समर्थक के नाम पर देश के कई राज्यों से कवि, वकील, प्रोफेसर और बुद्धिजीवियों की गिरफ्तारी की गई है। यह सही नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *