कुशीनगर हादसे के बाद जागा प्रशासन, सितंबर तक चौकीदार रहित क्रॉसिंग खत्‍म करने के निर्देश

देश

नई दिल्‍ली । रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कुशीनगर हादसे को गंभीरता से लेते हुए रेलवे बोर्ड को 11 जोनों की सभी चौकीदार रहित रेलवे क्रॉसिंग को इसी साल सितंबर तक समाप्त करने के निर्देश दिए हैं। गुरुवार शाम को गोयल ने रेलवे बोर्ड अफसरों तथा पांच प्रमुख जोनों के महाप्रबंधकों के साथ लंबी चर्चा की। उन्होंने अफसरों से कहा कि 11 जोनों की चौकीदार रहित क्रॉसिंग को सितंबर तक समाप्त करने के बाद बाकी पांच जोनों की ऐसी क्रॉसिंग को खत्म करने की समयबद्ध योजना भी तत्काल बनाएं।

गोयल ने अफसरों को निर्देश दिए कि मानवरहित क्रॉसिंग को जल्द समाप्त करने के लिए बहुआयामी रणनीति अपनाएं। इसके तहत ओवरब्रिज, अंडरपास बनाने के अलावा कुछ क्रॉसिंग को बंदकर उन पर आने वाले सड़क यातायात को दूसरी क्रॉसिंग की ओर डायवर्ट किया जाए। इस काम को ट्रैक के नवीकरण के साथ जोड़ा जाना चाहिए। किस जोन में कितनी क्रॉसिंग खत्म हुई, अब इसकी जानकारी रेलवे की वेबसाइट पर डाली जाएगी।

गोयल ने अफसरों को याद दिलाया कि रेलमंत्री का कार्यभार ग्रहण करने के बाद पहली बैठक में ही उन्होंने चौकीदार रहित क्रॉसिंग को समाप्त करने के स्पष्ट निर्देश दिए थे। परिणामस्वरूप काम में तेजी तो आई है और अब ए, बी व सी रूटों पर केवल 59 चौकीदार रहित क्रॉसिंग बचीं हैं। कुल मिलाकर अस्सी फीसद क्रॉसिंग समाप्त हो गई हैं। लेकिन बाकी बची क्रासिंग को यथाशीघ्र समाप्त किया जाना चाहिए।

कहां कितने मानव रहित क्रॉसिंग

– मध्य रेलवे- 109

– पूर्व रेलवे- 5

– पूर्व मध्य रेलवे- 684

– ईस्ट कोस्ट रेलवे- 185

– उत्तर रेलवे- 824

– उत्तर मध्य रेलवे- 327

– उत्तर पूर्व रेलवे- 728

– नार्थईस्ट फ्रंटियर रेलवे- 448

– उत्तर पश्चिम रेलवे- 796

– दक्षिण रेलवे- 451

– दक्षिण मध्य रेलवे- 331

– दक्षिण पूर्व रेलवे- 361

– दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे- 278

– दक्षिण पश्चिम रेलवे- 267

– पश्चिम रेलवे- 1907

– पश्चिम मध्य रेलवे- 0

कुल- 7701

16.23 फीसद- 2016-17 के दौरान कुल रेल दुर्घटनाओं में मानवरहित लेवल क्रॉसिंग (यूएलसी) पर होने वाली दुर्घटनाओं की हिस्सेदारी

16.33 फीसद- कुल दुर्घटनाओं में यूएलसी पर होने वाली दुर्घटनाओं की हिस्सेदारी (एक अप्रैल 2017 से नवंबर 2017 के बीच)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *