मुनाफावसूली और कमजोर रुपये से लुढ़का बाजार

बिजनेस न्यूज़

मुंबई : वैश्विक व्यापार युद्ध भड़कने की चिंताओं के बीच विदेशी निवेशकों द्वारा की जा रही सतत निकासी, कच्चे तेल की बढ़ती कीमतें और डॉलर के मुकाबले रुपये में जारी गिरावट के चलते घरेलू निवेशकों द्वारा की गई भारी मुनाफावसूली के चलते घरेलू बाजार लगातार दूसरे दिन भारी गिरावट के साथ बंद हुए।

मंगलवार को कारोबार की समाप्ति पर सेंसेक्स 509 अंकों की गिरावट के साथ 37,413 पर बंद हुआ जबकि निफ्टी 151 अंकों की गिरावट के साथ 11,287.50 पर बंद हुआ। वैश्विक ट्रेड वार के असर से सेंसेक्स दो दिन 977 अंक और निफ्टी 301 टूट गया। प्रमुख सूचकांक की तरह ही बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांक में भी खासी गिरावट देखने को मिली। बीएसई का मिडकैप 221 अंकों की गिरावट के साथ 16,006 पर बंद हुआ जबकि स्मॉलकैप 2 अंकों की गिरावट के साथ 16,488 पर बंद हुआ।

एशियाई बाजारों से मिले नकारात्मक संकेतों के बावजूद घरेलू बाजार की शुरुआत तेजी के साथ हुई। सेंसेक्स सुबह 95 अंकों की तेजी के साथ 38,017 पर खुला। दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 38,043 के ऊपरी और 37,361 के निचले स्तर को छुआ। इसी तरह निफ्टी 39 अंकों की तेजी के साथ 11,477 पर खुला। दिनभर के कारोबार में निफ्टी ने 11,479 के ऊपरी और 11,274 के निचले स्तर को छुआ।

मंगलवार बीएसई में कारोबार का रुझान नकारात्मक रहा। कुल 874 शेयरों में तेजी और 1,841 में गिरावट दर्ज की गई, जबकि 152 शेयरों के भाव में कोई बदलाव नहीं हुआ।
आर्थिक जानकारों का कहना है कि दुनिया की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच व्यापार युद्ध गहराने की आशंका से विदेशी बाजारों में भी गिरावट रही जिसके असर से भी घरेलू बाजार में निवेशकों में निराशा बढ़ी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *