ईरान, भारत में पिस्ता का सबसे बड़ा निर्यातक, 5 महीनों में 44 देशों को 110 मिलियन डॉलर का पिस्ता निर्यात किया

0

ईरान, भारत में पिस्ता का सबसे बड़ा निर्यातक, 5 महीनों में 44 देशों को 110 मिलियन डॉलर का पिस्ता निर्यात किया

तहलका टुडे टीम

नई दिल्ली:भारत के सीमा शुल्क कार्यालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले 9 महीनों के दौरान ईरान भारत में पिस्ता का सबसे बड़ा निर्यातक था।
भारत के सीमा शुल्क कार्यालय के आंकड़ों के अनुसार, अप्रैल से दिसंबर 2013 तक 9 महीने की अवधि में भारत ने ईरान से 25.3 मिलियन डॉलर मूल्य के 8,470 टन पिस्ता का आयात किया है।

आंकड़े बताते हैं कि उक्त अवधि में ईरान ने भारत द्वारा आयातित पिस्ता का 65.7% आपूर्ति की है।

संयुक्त राज्य अमेरिका ने भी इसी अवधि के दौरान भारत को 11.बी मिलियन डॉलर मूल्य का पिस्ता निर्यात किया है, जो ईरान के बाद दूसरे स्थान पर है, और 1.1 मिलियन डॉलर के साथ तुर्की तीसरा निर्यातक देश है।

आंकड़ों से पता चलता है कि उक्त नौ महीनों में भारत के पिस्ता आयात का कुल मूल्य 11,500 टन था।

ईरान ने 5 महीनों में 44 देशों को 110 मिलियन डॉलर का पिस्ता निर्यात किया है, वर्तमान ईरानी कैलेंडर वर्ष (21 मार्च से 22 अगस्त) के पहले पांच महीनों में 44 देशों में लगभग 110 मिलियन डॉलर मूल्य का लगभग 16,000 टन गुणवत्ता वाला पिस्ता निर्यात किया गया, विदेश व्यापार कार्यालय के ईरान केंद्रीय ग्रामीण सहकारी संगठन ने कहा।
इस अवधि में, ईरान से दुनिया के 44 देशों में $109,714,177 मूल्य के 15,981 टन गुणवत्ता वाले पिस्ता का निर्यात किया गया, जो पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में क्रमशः 6 प्रतिशत की वृद्धि और वजन और मूल्य में एक प्रतिशत की गिरावट दर्शाता है। रूहुल्लाह लतीफ़ी ने बताया कि इस अवधि में ईरान से निर्यात किए गए कुल पिस्ता का तेईस प्रतिशत रूसी संघ को भेजा गया था।
लतीफी ने कहा कि ईरान के पिस्ता के अन्य प्रमुख लक्षित बाजार जर्मनी, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), किर्गिस्तान और चीन थे।

एक्सपोर्ट इम्पोर्ट सलाहकार सैयद अली मुस्तफ़ा बताते है कि भारत से ईरान आयात और निर्यात का दायरा दिन प्रति दिन बढ़ता जा रहा है,भविष्य में ये बंदर अब्बास बंदर गाह के सड़क रास्ते बहाल होने के बाद इसमे तेज़ी आएंगी,भारतीय उद्योगपति बंदर अब्बास में अपने हब तैयार कर रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here