डिजिटल सौदों में माइंडट्री को करनी पड़ रही है कड़ी स्पर्धा

बिजनेस न्यूज़

बेंगलुरु । मध्यम आकार की आईटी कंपनी माइंडट्री को डिजिटल प्रोजेक्ट्स हासिल करने के लिए कड़ी स्पर्धा करना पड़ रहा है। कंपनी को कमोबेश हर बड़ी डील्स में सेल्स क्लोज करने में ज्यादा समय लग रहा है। माइंडट्री के चेयरमैन कृष्णकुमार नटराजन के मुताबिक अब पहले जैसी बात नहीं रह गई है, जब हर दो में एक डील्स हमें मिल जाती थी। आज हमें हर चार में एक डील्स से ही संतोष करना पड़ रहा है।

डिजिटल डील्स में मुकाबला बढ़ गया है। 50 लाख से 1 करोड़ डॉलर के डिजिटल प्रोजेक्ट्स को क्लोज होने में ज्यादा समय लग रहा है। इंडियन आईटी कंपनियों को पिछले कुछ साल से क्लाइंट्स की तरफ से ट्रेडिशनल आउटसोर्सिंग प्रोजेक्ट्स के बजट में कटौती का सामना करना पड़ रहा है।

क्लाइंट्स डिजिटल और क्लाउड जैसे इमर्जिंग एरिया में निवेश बढ़ाने की संभावनाएं तलाश रहे हैं और उस प्रोसेस में क्लाइंट्स पायलट डिजिटल प्रोजेक्ट्स पर एक-दो लाख डॉलर तक की रकम खर्च कर रहे हैं। इससे वे पहले यह समझने की कोशिश करते हैं कि डिजिटल सॉल्यूशंस ऑर्गनाइजेशन के लिए किस तरह फायदेमंद साबित हो सकते हैं। उसके बेनेफिट्स को लेकर आश्वस्त होने के बाद ही वे अपना बजट बढ़ाना शुरू करते हैं।

नटराजन ने कहा कि इसके चलते बड़ी डील्स की सेल्स साइकिल बढ़ गई है। अगर एक लाख डॉलर के प्रोजेक्ट को पूरा होने में तीस दिन लगते हैं तो 50 लाख के प्रोजेक्ट को पूरा होने में 60 से 90 दिन लग रहे हैं। बेंगलुरु की कंपनी का रेवेन्यू जून तिमाही में 20.9 फीसदी बढ़ा है। कंपनी ने 30.6 करोड़ डॉलर के अनुबंध साइन किए। कंपनी ने जून तिमाही में 13.9 करोड़ डॉलर के डिजिटल अनुबंध साइन किए।

माइंडट्री के टोटल रेवेन्यू में डिजिटल सर्विसेज लगभग 40 प्रतिशत का कंट्रीब्यूशन रहा और इसकी ग्रोथ कंपनी की 8-9 प्रतिशत की टोटल ग्रोथ से दोगुनी रही। जून तिमाही में माइंडट्री को टॉप क्लाइंट से तिमाही आधार पर 40 फीसदी ज्यादा आमदनी हुई। कंपनी को टॉप क्लाइंट से 10 करोड़ डॉलर से ज्यादा का रेवेन्यू मिला जबकि बाकी चार से उसे 5-5 करोड़ डॉलर की आमदनी हुई।

नटराजन ने कहा कि चुनिंदा क्लाइंट्स पर ज्यादा निर्भरता जैसी कोई बात नहीं है, कंपनी टॉप कस्टमर्स से आगे बढ़कर कारोबार के मौके तलाश रही है। उन्होंने कहा कि सालाना आधार पर दूसरे से 10वें क्लाइंट की ग्रोथ ज्यादा तेज रहने की उम्मीद है। हम दूसरे से 30वें क्लाइंट्स के साथ बिजनेस बढ़ाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *