आर्थिक जासूसी के आरोपी चीनी जासूस को गिरफ्तार कर अमेरिका लाया गया

विदेश

वॉशिंगटन : एक चीनी खुफिया अधिकारी को गिरफ्तार करके उस पर आर्थिक जासूसी के लिए षड्यंत्र रचने और जासूसी का प्रयास करने और अमेरिका की विभिन्न उड्डयन और एयरोस्पेस कंपनियों के व्यापार से जुड़ी गोपनीय जानकारी चुराने का आरोप लगाया गया है.

अमेरिकी न्याय मंत्रालय ने बुधवार को यह जानकारी दी. चीन के स्टेट सुरक्षा मंत्रालय (एमएसएस) के अधिकारी यानजुन शू उर्फ कु हुई उर्फ झांग हुई को मंगलवार को अमेरिका लाया गया और बुधवार को उसके खिलाफ लगाए गए आरोपों को सार्वजनिक किया गया.

शू को एक अप्रैल को बेल्जियम में गिरफ्तार किया गया था. उस पर षड्यंत्र रचने और जासूसी का प्रयास करने तथा व्यापार से जुड़ी गोपनीय सूचनाएं चुराने के चार आरोप हैं. एमएसएस के पास जिआंगसु स्टेट सुरक्षा विभाग के छठवें ब्यूरो में शू एक उप संभागीय निदेशक है.

एमएसएस चीन की खुफिया और सुरक्षा एजेंसी है. काउन्टर इंटेलिजेंस, विदेशों में जासूसी और राजनीतिक सुरक्षा उसके दायरे में आती है. चीन में एमएसएस को घरेलू और विदेशी दोनों तरह की जासूसी करने का अधिकार प्राप्त है.

शू पर लगाए गए आरोपों के अनुसार, दिसंबर 2013 से लेकर गिरफ्तार किये जाने तक उसने उड्डयन के क्षेत्र की अमेरिकी और अन्य बड़ी कंपनियों को अपना निशाना बनाया. शू ने जिन कंपनियों को निशाना बनाया उनमें जीई एविएशन भी शामिल है. उसने इन कंपनियों में काम करने वाले विशेषज्ञों को चिह्नित किया और फिर उन्हें चीन लेकर गया.

इनमें से ज्यादातर विशेषज्ञों को चीन के विश्वविद्यालयों में प्रेजेंटेशन देने के बहाने वहां ले जाया गया. शू और अन्य लोगों ने मिलकर विशेषज्ञों के आने-जाने का खर्च उठाया और उन्हें कुछ वेतन भी दिया. दोषी पाये जाने पर शू को अधिकतम 15 वर्ष की सजा हो सकती है

http://zeenews.india.com/hindi/india

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *