सेव वक्फ इंडिया मिशन के अलमबरदार भारत की सुप्रीम रिलीजियस अथारिटी आफताबे शरीयत की मुहिम का असर
ACB दिल्ली ने आम आदमी पार्टी विधायक अमानतुल्लाह खान को दिल्ली वक्फ बोर्ड भ्रष्टाचार मामले में किया गिरफ्तार,
जिस दिल्ली वक्फ बोर्ड करप्शन केस में किया गया गिरफ्तार, वो क्या है?

Breaking News CRIME Latest Article Viral News अदब - मनोरंजन अदालत इंडस्ट्रीज बहराइच बाराबंकी शेरो शायरी

दिल्ली: दिल्ली सरकार की एंटी करप्शन ब्रांच (ACB) ने शुक्रवार को दिल्ली के ओखला से आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक अमानतुल्लाह खान को गिरफ्तार कर लिया है। दिल्ली सरकार के मंत्री और आप के वरिष्ठ नेता सत्येंद्र जैन की गिरफ्तारी के बाद अब अमानतुल्लाह खान की गिरफ्तारी को लेकर दिल्ली की सियासत में भूचाल आ गया है। हालांकि खान की गिरफ्तारी किस मामले में हुए है, इसकी जानकारी लोगों को अभी साफ तौर पर नहीं है। हम आपको बता दें कि खान की गिरफ्तारी एक या दो दिन की आनन-फानन कार्रवाई के बाद नहीं हुई है। खान पर दिल्ली वक्फ बोर्ड के विभिन्न पदों पर मनमानी और अवैध नियुक्तियों का आरोप है। शाहे
मर्दा करबला में वकफखोरो से सांठ गांठ कर औकाफ़ को नुकसान पहुंचाने पर आफताबे शरीयत मौलाना कल्बे जवाद नकवी साहब ने इसकी शिकायत एलजी से की थी जिस ये कार्यवाही हुई थी।

आइये जानते हैं पूरा मामला…

दिल्ली सरकार के राजस्व विभाग के सबडिविजनल मजिस्ट्रेट (SDM) ने नवंबर 2016 में दिल्ली वक्फ बोर्ड में विभिन्न मौजूद और गैर-मौजूद पदों पर खान की ओर से मनमानी और अवैध नियुक्तियों का आरोप लगाते हुए एक शिकायत दर्ज की थी। इसके बाद सीबीआई ने एक मामला दर्ज कर लिया था और जांच की थी, जिसमें पर्याप्त सबूत मिले थे, जिसके बाद जांच एजेंसी ने उपराज्यपाल से अभियोजन की मंजूरी मांगी थी।

LG वीके सक्सेना ने दी थी मुकदमा चलाने की अनुमति
दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक और दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष अमानतुल्लाह खान के विरुद्ध 2016 में दर्ज ‘अवैध’ नियुक्तियों के मामले में सीबीआई को उनके खिलाफ मुकदमा चलाने की अनुमति दे दी थी। उन्होंने कहा था कि वक्फ बोर्ड के तत्कालीन मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) महबूब आलम के खिलाफ भी नियमों, विनियमों और कानून का ‘जानबूझकर और आपराधिक उल्लंघन करने’ और ‘पद का दुरुपयोग करने’ और सरकारी खजाने को वित्तीय नुकसान पहुंचाने सहित विभिन्न अपराधों के लिए मुकदमा चलाने की मंजूरी दी गई है।
एसीबी ने किया था पद से हटाने का अनुरोध
भ्रष्टाचार निरोधक शाखा (ACB) की ओर से अमानतुल्ला खान को दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष पद से हटाने का अनुरोध किया था। उपराज्यपाल सचिवालय (LG Secretariat) को इस संबंध में एसीबी की ओर से पत्र प्राप्त हुआ था। सूत्रों ने बताया था कि गवाहों को डरा-धमका कर उनके खिलाफ एक मामले की जांच को कथित रूप से प्रभावित करने के चलते एसीबी ने खान को दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष पद से हटाने का अनुरोध किया था।

12 लाख रुपये और एक बिना लाइसेंस वाला हथियार बरामद
दिल्ली सरकार की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा ने कई घंटों की लंबी पूछताछ के बाद आम आदमी पार्टी (AAP) विधायक अमानतुल्लाह खान को गिरफ्तार कर लिया है। इससे पहले दिल्ली की एंटी करप्शन ब्रांच (ACB) ने विधायक अमानतुल्लाह खान के घर समेत 5 ठिकानों पर छापेमारी की और 12 लाख रुपये और एक बिना लाइसेंस वाला हथियार बरामद किया था। एसीबी ने दो साल पुराने भ्रष्टाचार मामले में पूछताछ के लिए गुरुवार को खान को नोटिस जारी किया था। ओखला क्षेत्र से विधायक खान को भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत 2020 में दर्ज एक मामले में शुक्रवार को दोपहर 12 बजे पूछताछ के लिए बुलाया गया था। दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष खान ने नोटिस के बारे में ट्वीट किया था और इसमें दावा किया था कि उन्हें तलब किया गया है, क्योंकि उन्होंने एक नया वक्फ बोर्ड कार्यालय बनाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *