नहर कटने  से धान की सैकड़ों बीघा फसल जलमग्न किसानो का आरोप अज्ञात लोगो ने काटी पटरी,दर्जनों किसानों के आंसू बहे,एसडीएम तिलोई ने  बंद करवाई  नहर

अमेठी

 

 

 

 

 

 

 

इरशाद हुसैन

अमेठी के सिंहपुर ब्लाक अंतर्गत राजाफत्तेपुर के पास से निकलने वाली राजापुर रजबहा को अज्ञात लोगों द्वारा काट दिए जाने से सैकड़ों बीघा धान की फसल पूरी तरह जलमग्न हो जाने से  किसानों की अंतिम पायदान पर खड़ी फसलें बर्बाद हो गई एसडीएम तिलोई महेंद्र कुमार श्रीवास्तव को  जानकारी मिलने पर तुरंत नहर को बंद करवाया तथा जांच का आदेश दिया है तथा कहा है कि जांचोपरांत कार्यवाही होगी तथा किसानों की फसल की भरपाई के लिए आकलन कर शासन को रिपोर्ट भेजी जाएगी वहीं सिंचाई निर्माण खंड प्रथम लखनऊ  के अधिशासी अभियंता ने बताया कि नहर की पटरी काट देने वालों के खिलाफ मोहनगंज कोतवाली में मुकदमा पंजीकृत करने के लिए विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया गया है तथा हम भी इसकी जांच करवाएंगे उधर भाजपा के जिला महामंत्री धर्मेश कुमार मिश्र मौके पर पहुंचकर फसलों का जायजा लिया तथा जिलाधिकारी अमेठी से  किसानों को मुआवजा दिए जाने की मांग की है  प्राप्त जानकारी के मुताबिक विकासखंड सिंहपुर के सिंचाई निर्माण खंड प्रथम के अंतर्गत निकलने वाली राजापुर नहर में वर्तमान समय पानी का बहाव तेज है किसानों के मुताबिक बीती रात्रि युसूफ नगर व भीखीपुर के बीच अज्ञात लोगों ने नहर की पटरी काट दिया जिससे धान की सैकड़ों बीघा फसल खेतों में जलमग्न होकर चौपट हो  गई है यही नहीं चार जानवर भी पानी के बहाव में किसानों के खेत में पहुंचने की सूचना है जो चर्चा का विषय बना हुआ है उपजिलाधिकारी महेंद्र कुमार श्रीवास्तव के निर्देश पर सिंचाई विभाग व पुलिस विभाग दोनों को मौके पर पहुंचने को कहा गया जिसमें सिंचाई विभाग का एक भी कर्मचारी देर शाम तक मौका मुआयना तक देखने नहीं पहुंचा उधर पूर्व प्रधान शकील अहमद भीखीपुर की लगभग 25 बीघा खड़ी व कटी धान की फसल तथा अनवारुल हक ,इसरार, सफ्फू, नूर मोहम्मद, डॉ अदनान,  जलील अहमद, सहित दर्जनों किसान अपनी जलमग्न फसलें देखकर आंसू बहा रहे हैं वही सिंचाई  निर्माण खंड प्रथम के अधिशासी अभियंता ने संवाददाता को बताया है कि विभाग के अधिकारियों को हर हाल में रिपोर्ट प्रेषित करने को कहा गया है अगर लापरवाही हुई तो कार्यवाही की जायेगी  वहीं भाजपा जिला महामंत्री धर्मेश कुमार मिश्र जलमग्न फसलों को देखने के लिए प्रातः ही खेतों में पहुंच गए और उन्होंने काफी अफसोस जाहिर प्रकट किया तथा वहीं से ही उप जिला अधिकारी को फोन करके किसानों की पीड़ा को अवगत कराया उन्होंने कहा है कि अगर फसलों का मुआवजा नहीं मिलता तो मुख्यमंत्री से मिलकर किसानो की पीड़ा से अवगत कराया जायेगा|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *