CM योगी के लखनऊ मे दो सगे भाइयों इमरान और अरमान की दर्दनाक हत्या पर आक्रोश,नारेबाज़ी से गूँजी गलिया,दहशत,परिजनों ने मुख्यमंत्री योगी से विवेक तिवारी केस की तरह मांगा 1 करोड़ का मुआवजा

Breaking News CRIME उत्तर प्रदेश प्रदेश लखनऊ

पुराने लखनऊ में बुधवार की रात हुई डबल मर्डर में मारे गए दो सगे भाइयों इमरान और अरमान के परिजनों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर पांच मांगें सामने रखी हैं. परिवार का कहना है कि विवेक तिवारी हत्याकांड की तरह उन्हें भी सुरक्षा के साथ-साथ एक करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाए. परिवार ने मांगे न माने जाने पर प्रदर्शन की चेतावनी भी दी है.मुख्यमंत्री और शासन को लिखे पत्र में पिता दिलदार अली ने मांग की है कि हत्यारों को 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार किया जाए और उन्हें कड़ी सजा दी जाए. आरोपी पुराने हिस्ट्रीशीटर अपराधी हैं, लिहाजा परिवार की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए. परिवार के जीवकोपार्जन हेतु एक करोड़ कि आर्थिक सहायता दी जाए. परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए.शासन को भेजे गए पत्र विवेक तिवारी के परिवार की मदद का भी उदाहरण दिया गया है. पत्र में परिवार की तरफ से शासन को चेतावनी भी दी गई है. कहा गया है कि अगर मांगे पूरी नहीं होती तो परिवार प्रदर्शन करेगा और आत्महत्या को बाध्य होगा.

गौरतलब है कि बुधवार रात राजधानी के ठाकुरगंज इलाके में बेख़ौफ़ बदमाशों ने दो सगे भाइयों इमरान (20) व अरमान (18) को दौड़ा-दौड़ाकर लाठी डंडों से पीटा और बाद में गोली से उड़ा दिया. बताया जा रहा है कि करीब छह बदमाश मुसाहिबगंज की भीड़ भरी बस्ती में दोनों को पीटते रहे, लेकिन कोई उन्‍हें बचाने के लिए आगे नहीं आया.वारदात को थाने से महज 500 मीटर की दूरी पर अंजाम दिया गया. वारदात के बाद पुराने लखनऊ में तनाव को देखते हुए आठ थानों की पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है. सीसीटीवी खंगालने के साथ ही बदमाशों की तलाश की जा रही है. दो लोगों को पुलिस ने हिरासत में भी लिया है.प्रभारी निरीक्षक अनजानी कुमार पांडेय ने बताया कि मृतकों के पिता दिलदार प्रॉपर्टी डीलर हैं. इमरान कैब चालक है. बुधवार की रात इमरान और अरमान अपने बीमार पिता को दवा देकर लौट रहे थे. ठाकुरगंज चौराहे से चाय लेकर बंधा रोड की तरफ जा रहे थे. तभी कार और बाइक सवार बदमाशों ने इमरान के कैब को ओवरटेक करके उन्हें रोका. इस बीच बदमाशों और इमरान के बीच नोकझोंक हुई. कार के पीछे बैठा दोस्त निशांत जब तक कुछ समझता दोनों भाई कैब से निकलकर भागे, इसके बाद बदमाशों ने उन्हें लाठी-डंडों से पीटा और फिर गोली मार दी. इसके बाद इमरान और अरमान लहूलुहान होकर गिर पड़े. उन्हें ट्रामा सेंटर ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई.मामले में इमरान और अरमान के भाई रेहान की तरफ से नामजद तहरीर दी गई है. रेहान की तरफ से दर्ज कराई गई एफआईआर में साहिल उर्फ़ छोटू व उसके साथी शिवम और चिन्ना के ऊपर आरोप लगाया गया है. रेहान का आरोप है कि 10 दिन पहले साहिल की इमरान से कहा सुनी हुई थी. जिसके बाद साहिल ने तीन दिन पहले ही पिता को दोनों भाइयों को जान से मारने की धमकी दी थी. मामले में पुलिस ने तीन नामजद और अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *