एक और किसान ने की आत्महत्या, अबतक 10 से ज्यादा की मौत

दिल्ली-एनसीआर देश राज्य

मुंबई । औरंगाबाद के चिलकलथाना क्षेत्र में 22 साल के मराठी युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने बताया कि उमेश यांदेत के पास मरने से पहले लिखा गया पत्र बरामद किया गया है, पत्र में जिक्र हैं कि बीएससी उत्तीर्ण होने के बावजूद वह नौकरी पाने में असमर्थ था, इसलिए यह कदम उठा रहा है।

इसके पहले, उमेश मराठा आरक्षण को लेकर निकाले गये विभिन्न मोर्चो में शामिल था। इसके साथ ही अबतक महाराष्ट्र में इस मुद्दे पर 10 से ज्यादा युवक कथित तौर पर आत्महत्या कर चुके हैं। जैसे ही युवक के आत्महत्या करने की खबर आई, मराठा आंदोलनकर्ता चिल्कलथाना क्षेत्र के नजदीक औरंगाबाद-जलना मार्ग को जाम कर दिया

जिससे तनाव उत्पन्न हो गया। इसके बाद, पुलिस दल मौके पर पहुंचा और स्थिति नियंत्रित की। कलेक्टर ने आंदोलन के समक्ष एक पत्र पढ़ा और उन्हें आश्वस्त किया कि वह राज्य सरकार से मृतक के परिवार को 10 लाख रुपये सहायता राशि और नौकरी देने के लिए बात की है।

इस बीच,महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने गुरुवार को कहा कि उनकी सरकार कानून के अनुसार मराठों को आरक्षण उपलब्ध कराएगी। उन्होंने विभिन्न संगठनों के नेताओं के साथ बैठक भी की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *